भारी पुलिस जाब्ते के बीच लाया गया राजू ठेहट को

raju thet gangsterसीकर के व्यापारी को फोन पर धमका कर मांगे थे 25 लाख रूपए
जयपुर। प्रदेश के कुख्यात गैंगस्टर राजू ठेहट की ओर से नवंबर 2015 में नीम का थाना निवासी एक व्यवसायी को धमकाकर 25 लाख रूपए मांगने के मामले की जांच पिछले दिनों एसओजी को दी गई। जिसके बाद बुधवार को एसओजी एके 47 धारी कंमाड़ों के बीच राजू ठेहट को लेकर आई। दरअसल पिछले वर्ष नीम का थाना इलाके में एक व्यवसायी सुभाष गुर्जर ने राजू ठेहट और उसके गुर्गों के खिलाफ धमकी देकर पच्चीस लाख रुपए मांगने का मुकदमा दर्ज कराया था। सीकर पुलिस ठेहट के चार गुर्गों को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। इन दिनों ये प्रकरण एसओजी के पास है। ऐसे में राजू ठेहट की गिरफ्तारी एसओजी के द्वारा की गई। एसओजी के एसपी संजय श्रोत्रिय ने बताया कि गत वर्ष नम्बर में मनोज ओला और सुभाष मंगावा ने सीकर के व्यापारी से 25 लाख रुपए मांगे और उन दोनों बदमाशों ने अपने मोबाइल से राजू ठेहट को फोन लगा कर व्यापारी से बात करवाई। राजू ठेहट ने व्यापारी से कहा कि वे दोनों गुर्गें उसके आदमी हैं। दोनों को 25 लाख रुपए देने की बात कहते हुए धमकाया। इसके बाद पीड़ित ने नीम का थाना में मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस के मुताबिक अमित जाखड़ नाम का एक गुर्गा इसी व्यापारी से साढे पांच लाख रुपए ले चुका था। पुलिस राजू ठेहट से पूछताछ कर रही हैं।
राजू ठेठ के विरूद्ध हत्या, अपहरण, लूट, शराब की तस्करी, चुनावों के दौरान हिंसा व व्यवधान पैदा करने संबंधी दो दर्जन से ज्यादा आपराधिक प्रकरण सीकर ओर नागौर जिले के विभिन्न थानों में दर्ज हैं।

ब्लास्टिंग लाइसेंस के नाम पर भी ऐंठे लाखों रुपए
पुलिस के मुताबिक 12 नवंबर 2015 में हीरानगर निवासी सुभाष गुर्जर उर्फ फौजी ने इनके खिलाफ 25 लाख की फिरौती मांगने का आरोप लगाया था। फिरौती की रकम राजू ठेहठ ने गुर्गों के मार्फत मांगी थी। ठेहठ ने सुभाष गुर्जर को जमीन के अटके रुपए दिलाए थे। बाद में उसने भी जमीन सौदे के रुपए दिलाने की एवज में 25 लाख की मांग की। पुलिस के मुताबिक अमित जाखड़ ने हीरानगर निवासी सुभाष गुर्जर के रिश्तेदार को ब्लास्टिंग का लाइसेंस दिलाने की एवज में 5.60 लाख रुपए ऐंठ लिए। मामला तीन वर्ष पुराना है।

राजू ठेहट गैंग और बानूड़ा की संपत्ति जब्त करेगी पुलिस

जानिए आखिर क्यों लंबे बाल रखता था आनंदपाल ?

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Connect with Facebook

*