कुरजां-6 में वर्ल्ड रिकाॅर्ड के लिए करीब 700 छात्राओं ने एक साथ पहना राजस्थानी साफा

girls to wear Rajasthani turban for world record KURJAA-6

रंगारंग सांस्कृतिक प्रस्तुतियों में नजर आए मरूभूमि के विभिन्न रंग
जयपुर। करीब 700 छात्राओं ने एक साथ राजस्थानी केसरिया पहनकर न सिर्फ वुमन एम्पावरमेंट का संदेश दिया, बल्कि विश्व रिकाॅर्ड बनाने का प्रयास भी किया। इसके बाद उन्होंने मान-सम्मान और प्रतिष्ठा का प्रतीक यह साफा पहनकर एक साथ सेल्फी भी ली। बिड़ला आॅडिटोरियम में सोमवार को यह अवसर अवसर था राजस्थान में महिलाओं के सबसे बड़े महोत्सव ‘कुरजां‘ का। आॅल इंडिया वेलफेयर सोसायटी की ओर से लगातार छठी बार यह महोत्सव आयोजित किया गया। ‘बेटी बचाओ-सृष्टि बचाओ‘ थीम पर आयोजित इस महोत्सव की विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के जरिए जयपुर की बेटियों ने ‘सशक्त नारी‘ का संदेश दिया।
साफा पहनकर विश्व रिकाॅर्ड में अपना नाम दर्ज कराने के लिए यहां सुबह से ही छात्राएं जुटने लगी थीं। इसके लिए 501 गल्र्स का टारगेट रखा गया था, लेकिन लड़कियों के उत्साह को देखते हुए यह संख्या करीब 700 तक पहुंची।
सुबह 11 बजे तक चले इस कार्यक्रम के बाद आॅडिटोरियम में सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का दौर शुरू हुआ। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के तहत अधिकांश ग्रुप डांस परफाॅर्मेंस रहीं, जिनमें घूमर, केसरिया बालम, चिरमी, न आना इस देश लाडो, लावणी, काल्यो कूछ पड़्यो मेला में जैसे गीतों के जरिए गल्र्स ने राजस्थानी संस्कृति के रंगों को साकार किया। इनके अलावा पंजाबी और हिन्दी फिल्मों के कुछ चुनिंदा गीतों पर भी डांस प्रस्तुतियां दी गईं। महोत्सव के दौरान सिंगर रविन्द्र उपाध्याय और आकांक्षा शर्मा द्वारा गायन की मधुर प्रस्तुतियां भी दी गईं। यहां ‘मैरी काॅम‘ फिल्म के डाॅयलाग राइटर व प्रसिद्ध आरजे करण सिंह राठौड़ भी मौजूद थे।
KURJAA-6 (3)12 ‘अनसीन स्टार्स‘ वुमन्स का सम्मान भी-
अपने कार्यों व हौसले के दम पर समाज को उल्लेखनीय योगदान देने वाली 12 महिलाओं को ‘कुरजां-6‘ के दौरान सम्मानित किया गया। ये महिलाएं ‘रेड़ियो वाली आशा‘ के रूप में मशहूर माया शर्मा, हाॅकर अरीना खान, आश्रय केयर होम की संचालक सुशीला मारोठिया, बाल विवाह के खिलाफ आवाज उठाने वाली रोशन बैरवा, मेट्रो ट्रेन आॅपरेटर कुसुम कंवर, सिंगर आकांक्षा शर्मा, ब्लड बैंक संचालक रेनू रतन सिंह, पोस्टवुमन गोपाली शर्मा, भारतीय एथलीट सपना पूनिया, टोंक की नदीम अख्तर, और शिक्षा की अलख जगा रही कमलेश कपूर और पहली भारतीय नेवल आॅफिसर स्व. किरण शेखावत थीं। किरण का यह सम्मान उनके परिवारजनों ने प्राप्त किया।
चीफ गेस्ट केंद्रीय केबिनेट मंत्री जुअल ओरम, राजस्थान विधानसभा के सरकारी मुख्य सचेतक कालूलाल गुर्जर और राजस्थान सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकरिता मंत्री अरूण चतुर्वेदी ने इन महिलाओं को सम्मानित किया। राजस्थान सरकार के ‘अंगदान कार्यक्रम‘ की ब्रांड एम्बेसेडर सिमरन शर्मा सम्मान प्राप्त करने इस समारोह में उपस्थित नहीं हो सकीं, लेकिन उन तक उनका सम्मान पहुंचाया जाएगा।

गिनीज बुक के लिए आवेदन
इस यूनीक इवेंट के लिए कुरजां की ओर से गिनीज बुक को आवेदन दिया जा चुका है। वेलफेयर सोसायटी के सचिव विक्रम सिंह अरठ ने बताया कि इससे पहले इतनी संख्या में कहीं भी गर्ल्स ने साफा नहीं पहना है। जल्द ही इसके गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होने की संभावना है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Connect with Facebook

*


Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.