बिजली का बिल देगा इस बार झटका, प्रदेश में बिजली 85 पैसे महंगी

light bijli in rajasthan rate

 

कांग्रेस ने जताया विरोध
जयपुर। प्रदेश में भारी घाटे से जुझ रही बिजली वितरण कंपनियों की टैरिफ याचिका पर राजस्थान विद्युत विनियामक आयोग (आरईआरसी) ने आदेश देते हुए बिजली की रेट में 85 पैसे प्रति यूनिट (औसत) तक महंगी करने की अनुमति दे दी।  नई दरों में 16.89 फीसदी की औसत दर से बढ़ोतरी हुई है। इसके साथ ही स्थायी शुल्क में भी 20 से 50 रुपए प्रति महीना की बढ़ोत्तरी की गई है। विद्युत नियामक आयोग ने घरेलू श्रेणी में औसत 15.9 फीसदी दरें बढ़ाई है। कृषि में मीटर वाले उपभोक्ताओं के 14.5 दरों में इजाफा हुआ है। बाकी श्रेणियों में 19 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इन श्रेणियों में बढ़ी दर अब 5.8 पैसे की बजाय 5.94 पैसे होगी। घरेलू श्रेणी में 85 पैसे औसत दर आयोग ने स्वीकार की है।
नया टैरिफ 1 फरवरी 2015 से ही लागू हो जाएगी। ऐसे में हर उपभोक्ता पर हर महीने 1500 रुपए का अतिरिक्त भार पड़ेगा। वहीं बिजली कंपनियों को 400 करोड़ रुपए महीना की आय होगी। आरईआरसी के फैसले के बाद बिजली वितरण कंपनियों ने भी फैसला लागू करने के लिए काम शुरु कर दिया है। विद्युत नियामक आयोग ने इसे मंजूरी दी है।

आयोग के अनुसार, घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली की दरें निम्न होंंगी…. शून्य से 150 यूनिट बिजली इस्तेमाल करने पर 3.50 रूपए प्रति यूनिट, 50-150 यूनिट बिजली इस्तेमाल करने पर 5.45 रूपए प्रति यूनिट, 150-300 यूनिट बिजली इस्तेमाल करने पर 5.70 रूपए प्रति यूनिट।

सभी अपडेट के लिए हमें Facebook पर फॉलो करें

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Connect with Facebook

*