आॅनलाइन बिक रहे किट बता रहा है लड़का होगा या लड़की

amazon sell boy or girl gender testजयपुर। बेटी बचाने के लिए जहां सरकार प्रयासरत है और प्रशासन भी अल्ट्रासाउंड केंद्रों पर छापेमारी कर रहा है, वहीं इन प्रयासों को इंटरनेट पलीता लगा रहा है। कई सर्च इंजन पर कन्या भ्रूण की पहचान के लिए तरीके मौजूद हैं।
ऑनलाइन सर्च करने पर कई ऐसी आॅनलाइन बिक्री करने वाली कंपनियां ऐसे प्रोडेक्ट बेचते नजर आ रही है। जिससे दावा किया जा रहा है कि लड़का होगा या लड़की ये पता चलता है। ऐसे में कन्या भ्रूण हत्या की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता।
कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ चल रही मुहिम के बावजूद ऑनलाइन कुछ ई-कॉमर्स वेबसाइट पर लिंग पहचान किट (जेंडर प्रीडिक्शन किट) के नाम से खुले आम बिक रही है।
जबकि इस तरह का विज्ञापन और किट बेचना पीएनडीटी (प्री नैटल डायगभनोस्टिक टेक्निक) एक्ट का उल्लंघन है। कन्या भ्रूण हत्या करने व लिंग जांच के लिए ऑनलाइन किट के कई विकल्प मौजूद हैं। ऐसी किटों के जरिए लोग घर बैठे ही लिंग जांच कर लेते हैं।
ऑनलाइन आर्डर पर किट मंगवाई जाती हैं तथा इनके लिए क्रेडिट कार्ड के जरिए भुगतान होता है। जिस तरह प्रेग्नेंसी टेस्ट करने के लिए स्टिक के जरिए जांच कर रंग से गर्भ का पता लगाया जा सकता है, ठीक उसी तरह इन किटों के जरिए लिंग की जांच की जाती है। किट द्वारा टेस्ट किए जाने पर एक्स एवं वाई क्रोमोसोम का पता रंग से चल जाता है।
सर्च इंजन और प्रसव पूर्व लिंग निर्धारण पर साबू जॉर्ज बनाम भारत सरकार के मामले की सुनवाई करते हुए पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया था। साथ ही भारत में चल रहे सभी सर्च इंजन को हिदायत दी थी कि लिंग निर्धारण से संबंधित की-वर्ड को फिल्टर के जरिए रोका जाए और वेबसाइट पर इस तरह के किट और अन्य जानकारी के विज्ञापन प्रसारित नहीं की जाए।
बेबी किट के मार्फत लिंग निर्धारण की जानकारी के बाद भ्रूण खत्म करने के ऑनलाइन कई तरीके हैं। जिनमें कुछ घरेलू नुस्खे हैं। इसमें कुछ दवाओं के नाम भी मौजूद हैं। जिसे बाजार में खरीदा जा सकता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Connect with Facebook

*


Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.