5 करोड़ की लागत से बना कोटपूतली का ट्रोमा अस्पताल निम्स को सुपुर्द

docter-22जयपुर-दिल्ली राजमार्ग पर दुर्घटनाओं में घायलों को तुरंत मिलेगा इलाज
जयपुर। चिकित्सकों, नृसिंग स्टाफ की कमी से जूझ रहे कस्बे के ट्रोमा अस्पताल के अब दिन फिरने वाले हैं। सरकार ने जयपुर-दिल्ली नेशनल हाइवे पर बढ़ रहे हादसों में घायल मरीजों की तुरंत चिकित्सकीय सेवा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से हाल ही चंदवाजी के निम्स अस्पताल से इस बाबत एमओयू किया है। इसके अनुसार ट्रोमा भवन निम्स अस्पताल को दिया जाएगा। निम्स अस्पताल ही सभी संसाधन चिकित्सा स्टाफ लगाते हुए मरीजों का नि:शुल्क इलाज करेगा।
ज्ञात हो कि कस्बे के बीडीएम अस्पताल में 5 करोड़ की लागत से बने ट्रोमा केयर सेंटर में बीडीएम अस्पताल का ही स्टाफ कार्य कर रहा था। इसके चलते सेंटर में जरूरी उपकरणों के अलावा पलंग सहित अन्य सामान भी उपलब्ध था। सेंटर में ऑपरेशन थियेटर भी था लेकिन चिकित्सकों की कमी के चलते सड़क हादसों के अलावा अन्य दुर्घटनाओं में घायलों के त्वरित उपचार की सभी सुविधाएं उपलब्ध नहीं रहने से मरीजों को जयपुर रेफर कर दिया जाता था। इलाज के अभाव में अनेक मरीज बीच रास्ते में ही दम तोड़ देते थे। इस संबंध में बीडीएम अस्पताल के पीएमओ डॉ.के.एल.मीणा का कहना है कि सरकार ने स्थानीय ट्रोमा अस्पताल काे, निम्स अस्पताल प्रशासन की ओर से चलाने का एमओयू किया है। भवन उपकरण जैसे ही पूरा सैटअप निम्स अस्पताल को सौंप दिया जाएगा। बाकी सारी व्यवस्थाएं निम्स अस्पताल नि:शुल्क उपलब्ध कराएगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Connect with Facebook

*